Archives for April, 2017

बेहतर अनुवाद के साथ-साथ अब गूगल सर्च में हिंदी शब्दकोश के परिणाम भी होंगे शामिल

गूगल ने मंगलवार को घोषणा की कि कंपनी अपने उत्पादों में भारतीय भाषाओं के लिए बेहतर समर्थन प्रस्तुत करने जा रहा है।

गूगल ने मंगलवार को घोषणा की कि वह अपने उत्पादों में भारतीय भाषाओं के लिए बेहतर समर्थन प्रस्तुत करने जा रहा है। पिछले महीने हिन्दी के लिए मशीन-लर्निंग आधारित अनुवाद के लिए समर्थन शुरू करने के बाद, अब वह 9 अन्य भारतीय भाषाओं को अपने ‘प्राकृतिक मशीनी अनुवाद’ में शामिल करने जा रहा है । कंपनी अपने क्रोम ब्राउज़र के अंतर्निहित स्वतः अनुवाद कार्यक्षमता को नई अनुवाद तकनीक से सक्षम करने जा रही है। इसके अतिरिक्त, यह घोषणा भी की गई है कि उसके ‘जी-बोर्ड’ नामक कीबोर्ड एप अब सभी 22 अनुसूचित भारतीय भाषाओं का समर्थन करेगा। इतना ही नहीं गूगल खोज परिणामों में अब हिंदी शब्दकोश के परिणाम भी शामिल होंगे.

कुल मिला कर भारतीय भाषाओं में आपस में अनुवाद के लिए अब उन्नत तकनीक को शामिल किया गया है. इससे अनुवाद को ‘स्वाभाविक’ बनाने में सहायता मिलेगी. इस तकनीक से पूरे वाक्यों का अनुवाद होगा, न की टुकड़ों में.

गूगल अपने क्रोम ब्राउज़र में अंतर्निहित स्वतः अनुवाद कार्यक्षमता को नई अनुवाद तकनीक से सक्षम करने जा रही है। इसकी सहायता से भारतीय उपयोगकर्ता विदेशी भाषाओं की वेब साइटों को अब ९ भारतीय भाषाओं में अनुवाद कर देख सकेंगे.

इतना ही नहीं गूगल अपनी नई ‘स्वतः मशीनी प्राकृतिक अनुवाद’ तकनीक को गूगल मानचित्र में भी शामिल करने जा रहा है. इससे उपयोगकर्ता अब रेस्तरां, होटल, कैफे वगेरे के अनुवादित रिव्यू को अपनी भाषाओं में पढ़ पाएंगे.

गूगल सर्च में अब उपयोगकर्ता राजपाल एंड साँस हिंदी शब्दकोश के परिणाम भी देख पाएंगे. इसके लिए खोज के बक्शे में इच्छित शब्द को लिख कर ‘का मतलब’ लिखने पर उस शब्द का अर्थ, शब्दकोश से परिभाषा तथा शब्द सम्बन्धी वेब परिणाम प्राप्त होंगे.

उल्लेखनीय है की भारत में २३ करोड़ ४० लाख भारतीय भाषाई इंटरनेट उपयोग करता है. वहीं अंगरेजी जानने वाले १७ करोड़ लोग ही नेट का उपयोग कर रहे है. ऐसे में गूगल की यह पहल भारत में नेट का बेहतर अनुभव देने और अपनी सेवाओं को विस्तार देने का सशक्त प्रयास है.

छवि ब्रांड कंसलटिंग, अहमदाबाद के संस्थापक। हिंदी में पहली पीढ़ी के जाने माने ब्लॉगर एवं वेब लेखक। वेब अनुप्रयोगों के हिंदीकरण में सक्रिय भूमिका। विज्ञान एवं तकनीक आधारित पुरस्कृत हिंदी पोर्टल ‘तरकश.कॉम’ के संपादक रहे। वेब पोर्टल निर्माण और रखरखाब के क्षेत्र में 10 साल से कार्यरत।

Read more

A Simple Solution to Adjust the Profile Photo

one of our client came to us with a problem — “how to adjust the profile photo to avoid the virtual beheading”.

Recently, one of our client came to us with a problem. Their problem was not uncommon, in fact, many major online apps like Facebook too has this issue — “how to adjust the profile photo to avoid the virtual beheading”.

Suppose you have a mobile app or a website, where the user can upload their profile pic. Here, you can control the size of the photo which is to be uploaded but nobody can control how the photo will be. It can be vertical, it can be horizontal and so on…

So adjusting the uploaded photo as a perfect avatar image is a challenge. Take a look at this example –


Here, on the left size is the photo which user is uploading and on the right size is the circular shaped subject in which that image will be placed by software and shall act as an avatar image.

So if the algorithm of the app keeps the actual photo size; or even adjusts the width as per the subject’s width the end result looks out of shape. Nobody would like an avatar profile with cropped face.

And since you can’t control the type of photo a user would upload, there cannot be a foolproof solution to this issue, but with a simple adjustment, it can be handled to some extent.

Here is how —

When a user uploads a photo as a profile image, do this —

  1. reduce or increase the width of the photo to match the width of the crop area (space where the profileimage would fit). This space can be rectangle, square or circle.
  2. Adjust the height of the photo in proportion to the width.
  3. Now align the profile pic “Vertical / Top” to the crop area.
  4. Put the profile photo inside the crop area.
  5. Here you go!

A friend asked me, what if the user is on her hands with legs up? or what if he is lying on a sofa?

Well, in this case, the coders would have to develop an AI to detect the face and adjust the photo accordingly. 🙂
But in most cases, people generally upload selfies and photos with a straight face, so this simple hack would solve the puzzle in 90% cases.

Pankaj is CEO and Chief Visualiser of Chhavi. He loves film making & traveling and wasting time on Twitter 🙂 .

Read more

एक ‘प्रोडक्टिव’ दिन के लिए

जितने काम निपटा सकता था उससे आधे ही ख़त्म कर सका. जबकि इससे कहीं अधिक कार्य-सूचि ख़त्म की जा सकती थी. फिर समस्या कहाँ रही?

ऑफिस से निकला हूँ और घर की ओर कार ड्राइव करते हुए गुजर गए दिन की गतिविधियों पर सोच रहा हूँ. एक असंतुष्टि-सी मन में है. जितने काम निपटा सकता था उससे आधे ही ख़त्म कर सका. जबकि इससे कहीं अधिक कार्य-सूचि ख़त्म की जा सकती थी. फिर समस्या कहाँ रही?
जिन कारणों से कार्यक्षमता अनुरूप कार्य न हो पाए उनकी सूचि मन ही मन बनानी शुरू की और घर पहुंचते पहुंचते ‘करने और न करने’ की एक सूचि बन गई.

छवि ब्रांड कंसलटिंग, अहमदाबाद के संस्थापक। हिंदी में पहली पीढ़ी के जाने माने ब्लॉगर एवं वेब लेखक। वेब अनुप्रयोगों के हिंदीकरण में सक्रिय भूमिका। विज्ञान एवं तकनीक आधारित पुरस्कृत हिंदी पोर्टल ‘तरकश.कॉम’ के संपादक रहे। वेब पोर्टल निर्माण और रखरखाब के क्षेत्र में 10 साल से कार्यरत।

Read more

2015 Chhavi